बाफला बाटी राजस्थान का एक खास व्यंजन है आमतौर पर जो बाटी हम घर पर बनाते हैं उसमें आटा गूंथकर बाटी बनाकर फ्राई कर लेते हैं। लेकिन बाफला बाटी बनाने का तरीका थोड़ा अलग है और यह स्वाद में भी बहुत ही मज़ेदार है। ऊपर से खस्तेदार और अंदर से मुलायम बाफला बाटी सब्जी चटनी चोखा के साथ खाने में बहुत ही स्वादिष्ट लगता है। अगर आपको बाटी बनाने का मन हो तो इस तरीके से बाफला बाटी जरूर बनाएं, यह रेसिपी घर में सभी को बहुत ही पसंद आएगा। तो चलिए रेसिपी को बनाना शुरू करते हैं…

सामग्री (Ingredients) –

  • Wheat flour गेहूं का आटा – 1 कप
  • Semolina सूजी – 1/4 कप
  • Ajwain अजवाइन – 1 छोटी चम्मच
  • Cumin जीरा – 1/2 छोटी चम्मच
  • Baking soda बेकिंग सोडा – 1/2 छोटी चम्मच
  • Desi ghee देसी घी – 1 बड़े चम्मच
  • Turmeric powder हल्दी पाउडर – 1/2 छोटी चम्मच
  • Salt to taste नमक स्वादानुसार
  • Water पानी

बाफला बाटी बनाने की विधि (How to make Bafla Baati Recipe) –

  • बाटी बनाने के लिए सबसे पहले एक बड़े बर्तन में आटा, सूजी, अजवाइन, जीरा, देसी घी, हल्दी पाउडर, बेकिंग सोडा और नमक स्वाद अनुसार डालकर सारे चीजों को अच्छे से मिलाएं।
  • फिर इसमें थोड़ा थोड़ा पानी डालकर बाटी के लिए हल्का नरम आटा गूंथकर तैयार कर लीजिए।
  • इसके बाद आटे का लोई लेकर इसको हल्का चपटा गोल बाटी बना लीजिए। इसी तरीके से पूरे आटे का बाटी बनाकर तैयार कर लीजिए।
  • अब बाटी को भाप में पकाने के लिए कड़ाही में 2 से 3 कप पानी और एक स्टैंड को डालें। फिर एक थाली या प्लेट में तेल लगाकर स्टैंड के ऊपर रखें। इसके बाद सारे बाटी को थाली में रखकर कड़ाही के ऊपर ढक्कन लगाकर बाटी को मध्यम आंच पर 12 से 15 मिनट तक भाप में पकाएं।
  • बाटी पकने के बाद जब इसमें दरारे (क्रैक) आ जाए तो समझिए बाटी चुका है। इसके बाद गैस को बंद करके इसे कड़ाही से बाहर निकाल लीजिए।
  • अब बाटी को तलने के लिए कड़ाही में से पानी निकालकर इसमें तेल को डालकर अच्छे से गरम करें।
  • तेल जैसे ही अच्छे से गरम हो जाए तो एक बार में तेल में जितने बाटी आ जाए उतने बाटी को डालकर मध्यम आंच पर बराबर उलट-पलट कर अच्छे से सुनहरे रंग में फ्राई कर लीजिए।
  • तले हुए बाटी को प्लेट में निकालिए और इसी तरह सारे बाटी को फ्राई कर लीजिए।
  • अब बाफला बाटी बनकर तैयार है। इसे आप सब्जी चटनी या चोखा के साथ खाने के लिए परोसें।

सुझाव (Suggestion) –

  • आटा लगाते समय आप मोयम के लिए देसी घी की जगह तेल भी ले सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे मोयम घी या फिर तेल जरूर डालें, इससे बाटी खास्ता बढ़िया बनेगा।
  • बाटी को भाप में पकाते समय जब ये ऊपर से थोड़ा टाइट और इसमें दरारे आ जाए तो समझिए बाटी पक चुका है।
  • बाटी को तलने के लिए तेल पहले अच्छे से गरम करें और फिर बाटी को तेल में डालकर मध्यम आंच पर सुनहरे रंग में खस्ता होने तक तलें।
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (18 votes, average: 2.44 out of 5)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here